पुरानी दिल्‍ली में पार्किंग के विवाद ने लिया सांप्रदायिक रंग, फोर्स तैनात

Sharing is caring!

देश भर से आ रही बुरी ख़बरों के बीच राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में भी सामाजिक माहौल बिगड़ने की ख़बर है। पुरानी दिल्‍ली के थाना हौज़ काज़ी अंतर्गत लालकुआं में इतवार रात पार्किंग को लेकर हुए एक सामान्‍य से विवाद ने सोमवार को भीषण रूप ले लिया जब दो समुदायों के लोग आमने-सामने आ गए।

स्‍थानीय लोगों के मुताबिक रविवार रात लालकुआं में एक युवक अपनी स्‍कूटी खड़ी कर रहा था जिस पर एक दुकानदार ने यह कहते हुए आपत्ति दर्ज करवायी कि उस जगह पर गाय बैठती है, वहां गाड़ी न खड़ा करे। युवक ने प्रतिवाद किया तो कुछ दुकानदारों ने मिलकर युवक को पीट दिया। इसके बाद युवक कुछ दूसरे लोगों के साथ वापस आया और टकराव की स्थिति बन गई।

सोमवार को इस घटना ने तब सांप्रदायिक रंग ले लिया जब हिंदुओं ने दावा किया कि दुर्गा मंदिर में दूसरे समुदाय के लोगों ने तोड़फोड़ की है। दूसरी ओर मुस्लिमों का दावा है कि दूसरे समुदाय ने लालकुआं के गली चाबुक सावर निवासी आस मोहम्‍मद को इतना मारा कि उसका हाथ टूट गया।

लालकुआं की मस्जिद के इमाम और बुजुर्गों ने मस्जिद के लाउडस्‍पीकर से घोषणा की कि युवा इलाके में शांति बनाए रखें, हालांकि दोनों ही पक्षों से माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गयी है। रात से कई बार भीड़ अलग-अलग जगहों पर इकट्ठा हुई और सांप्रदायिक नारे लगाए गए।

पुलिस ने मामला ठंडा कराने के लिए मंदिर के लिए नई मूर्तियां मंगवा कर दे दी हैं फिर भी दोनों पक्षों से संवाद नाकाम बताया जा रहा है।

स्‍थानीय विधायक और दिल्‍ली सरकार के मंत्री इमरान हुसैन ने भी माहौल को शांत कराने की अपने स्‍तर पर कोशिश की है। इसके बावजूद कुछ लोगों ने शाम 6 बजे मंदिर में हनुमान चालीसा पढ़ने का एलान किया है। इलाके में सीआरपीएफ और पुलिस तैनात है।

shares